चश्मे के कारण 5 महीने के बाद शव की पहचान हुई, सबूत नष्ट करने के लिए 100 बार देखा टीवी क्राइम शो

0

मथुरा, 30 अक्टूबर – उत्तर प्रदेश के मथुरा से दर्दनाक घटना सामने आई है। यहां एक 17 वर्षीय लड़के ने अपने पिता की हत्या कर दी। इसके बाद सबूत नष्ट करने के लिए अपनी मां के साथ मिलकर शव को ठिकाने लगाने का प्रयास किया। सबूत नष्ट करने के लिए उन्हें क्राइम पेट्रोल से कुछ जानकारी मिली। पुलिस ने उनके मोबाइल फ़ोन की जांच की तो पता चला की दोनों ने टीवी शो क्राइम पेट्रोल की 100 से अधिक एपिसोड देखे। हत्या की इस घटना के पांच महीने के बाद नाबालिग लड़के को कस्टडी में लिया गया है जबकि उसकी मां को गिरफ्तार कर लिया गया है।

मृतक की पहचान मनोज मिश्रा (42 ) के रूप में की गई है। इस मामले में पुलिस दवारा कब्जे में लिया गया लड़का 12वीं में पढता है। लड़के ने इस घिनोनी वारदात को 2 मई के दिन अंजाम दिया था। पिता ने उस पर चिल्लाया था इसलिए उसने पिता के सिर पर लोहे के सलई से हमला किया था। इस घटना में उसके पिता बेहोश हो गए । उसके बाद लड़के ने गला दबा कर उनकी हत्या कर दी। इसके बाद रात में लड़के ने मां के साथ मिलकर शव को नष्ट करने का प्रयास किया।

दोनों शव को लेकर घर से 5 किलोमीटर दूर गए। शव की पहचान नहीं हो पाए इसलिए पेट्रोल और टॉयलेट क्लीनर डालकर शव को जला दिया। पुलिस को 3 मई को जला हुआ शव मिला। तीन सप्ताह तक इस शव की पहचान नहीं हो पाई। क्योंकि किसी व्यक्ति ने किसी के गायब होने की शिकायत दर्ज नहीं कराई थी।

मृत व्यक्ति के परिवार ने इस्कॉन के अधिकारियों के दबाव में 27 मई को एक व्यक्ति के गायब होने की शिकायत दर्ज कराई। क्योंकि मनोज मिश्रा इस्कॉन में डोनेशन कलेक्टर के रूप में काम करते थे। वहां के कुछ सहकर्मियों ने मनोज मिश्रा के चश्मे से उनकी पहचान की। इस्कॉन के सहयोगियों ने बताया कि मनोज लंबे समय से गैरहाजिर थे। वह कई बार भागवत गीता का प्रचार करने के लिए यात्रा करते थे इस लिए संदेह नहीं हुआ।

पुलिस ने जब मनोज के बेटे को पूछताछ के लिए बुलाया तो वह बचने का प्रयास करने लगा। उसने पुलिस से पूछा कि कौन अधिकारी मामले की जांच कर रहे है। जब लड़के के मोबाइल की जांच की गई तो पुलिस ने देखा की टीवी शो क्राइम पेट्रोल के 100 से अधिक एपिसोड देखा गया है। जांच के दौरान आख़िरकार लड़के ने अपना गुनाह कबूल कर लिया। पुलिस ने इस मामले में उसकी मां 39 वर्षीय संगीता को भी गिरफ्तार किया है। उसके खिलाफ हत्या और सबूत नष्ट करने का केस दर्ज किया गया है। जबकि 11 साल की बेटी संगीत को उसके दादा दादी को सौंप दिया गया है।

You might also like