हैदराबाद गैंगरेप और हत्या मामले में याद आया 15 वर्ष पहले का अक्कू यादव हत्याकांड

0

नागपुर, पॉलीसेनामा ऑनलाईन – पुरे देश में खलबली मचाने वाले हैदराबाद गैंग रेप और हत्या मामले में शामिल चार आरोपियों का पुलिस ने इनकाउंटर करके मार डाला। तुरंत न्याय करने की मांग होने लगी है. इसी तरह का एक मामला 15 वर्ष पहले नागपुर में घटी थी. तुरंत सजा देने की मांग करती नाराज भीड़ ने अक्कू यादव नाम के गुंडे की कोर्ट में हत्या कर दी गई थी.

देश भर में चर्चा बटोर चुकी अक्कू यादव हत्याकांड हैदराबाद इनकाउंटर के बाद एक बार फिर से ताज़ा हो गई हो गई है.
भीड़ ने घटना को अंजाम 
13 अगस्त 2004 की दोपहर 3 बजे जिला कोर्ट परिसर में कोर्ट की सुनवाई के दौरान भीड़ ने चाकू, तलवार, भाला और कांच घोप कर और  पत्थर मारकर हत्या कर दी थी. घटना  के बाद अक्कू यादव का घर जला दिया गया था.
केवल 18 आरोपी 
इस मामले में सदर पुलिस स्टेशन में एकनाथ चव्हाण, उषा नारायणे, ऐड. विलास भांडे, अजय मोहोड़, सुमेद करवाडे, दिलीप शेंडे, पंकज भगत समेत 21 लोगों को गिरफ्तार किया गया था. इनमे सात महिलाएं थी. इस  मामले में राज्य सरकार ने 7 दिसंबर 2004 को चार्जशीट फाइल की. कोर्ट की सुनवाई के दौरान अजय मोहोड़, देवांगना हुमने और अंजना बोरकर की मौत हो गई. इस मामले में सभी को दोष मुक्त कर दिया गया. देश विदेश में इस मामले की बहुत चर्चा हुई. हैदराबाद इनकाउंटर के बाद इस मामले की  फिर से याद  ताज़ा हो गई है।
You might also like