उद्धव ठाकरे के मुख्यमंत्री बनते ही ‘इस’ IAS ऑफिसर कपल ने फडणवीस के स्वागत वाली फोटो की जगह लगा दी उद्धव ठाकरे के साथ वाली पुरानी फोटो

0

मुंबई : पोलिसनामा ऑनलाइन –  पिछले कुछ हफ्तों से जारी राजनीतिक उथल-पुथल के बीच अब एक हाई-प्रोफाइल IAS ऑफिसर कपल ने देवेंद फडणवीस और उद्धव ठाकरे की फोटो को लेकर कुछ ऐसा कारनामा कर दिखाया है, जिसके सामने आने के बाद सब दंग है. 23 नवंबर को शहरी विकास विभाग में प्रमुख सचिव मनीषा पाठणकर म्हैस्कर द्वारा FB पर की गई एक पोस्ट ने अब उन्हें आलोचना का शिकार बना दिया है. ऐसा होना भी लाजिमी ही था, क्योंकि उन्होंने काम ही कुछ इस तरह का किया था. आइए आपको बता दें कि आखिर मांजरा क्या है.

मनीषा पाठणकर  ने देवेंद्र फडणवीस के दूसरी बार मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के बाद, उनकी स्वागत करते हुए एक फोटो पोस्ट की थी, जिसमें उनके पति मिलिंद म्हैसकर भी दिखाई दिए थे. बता दें कि मिलिंद म्हैस्कर महाराष्ट्र हाउसिंग एंड एरिया डेवलपमेंट अथॉरिटी (म्हाडा) के सीईओ और उपाध्यक्ष हैं। हालांकि, सुप्रीम कोर्ट द्वारा नई सरकार को 72 घंटे के भीतर फ्लोर टेस्ट कराने का आदेश दिया था, उसके बाद फडणवीस ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया.

फडणवीस के इस्तीफा देने के कुछ घंटों बाद, जब यह स्पष्ट हो गया कि उद्धव ठाकरे अगले सीएम होंगे, तो मनीषा म्हैस्कर ने तुरंत उनकी और उनके पति की फडणवीस के साथ वाली फोटो को शिवसेना प्रमुख की पुरानी फोटो के साथ बदल दिया। बताया जा रहा है यह यह फोटो साल 2013 की है, जब म्हैसकर बीएमसी में अतिरिक्त आयुक्त थी। यह फोटो कांदिवली में नागरिक निकाय के शताब्दी अस्पताल के उद्घाटन पर लिया गया था। हालाँकि उँगलियाँ उठने के वाद म्हैसकर ने दोनों फोटो को हटा दिया है. लेकिन मीडिया में यह फोटो पहले ही फ़ैल चुकी थी.

बता दे कि म्हैसकर 1992 बैच के आईएएस अधिकारी हैं और हमेशा अच्छे पदों पर रही हैं. साल 2006 में मुंबई आने के बाद, मनीषा म्हैस्कर ने डायरेक्टर जनरल, पब्लिक रिलेशन, मेडिकल एजुकेशन सेक्रेटरी व एडिशनल नगर निगम आयुक्त, बीएमसी जैसे पदों पर कार्य किया है।

जबकि IITan मिलिंद म्हैसकर ने महाराष्ट्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष, मुंबई महानगर क्षेत्रीय विकास प्राधिकरण के अतिरिक्त आयुक्त, मेडिकल एजुकेशन सेक्रेटरी और मुख्यमंत्री ऑफिस के मुख्य सचिव के रुप में अपनी सेवाएँ दी हैं.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मनीषा म्हैस्कर मूलरूप से नागपुर की हैं. वे सरस्वती विद्यालय और लॉ कॉलेज में फडणवीस से एक साल सीनियर रह चुकी हैं. इस नागपुर कनेक्शन के कारण म्हैस्कर हमेशा फडणवीस के करीब रहे हैं।

You might also like