Ajit Pawar-Supriya Sule

मुंबई : पुलिसनामा ऑनलाइन – Baramati Lok Sabha | एक बार ७ तारीख को बारामती में मतदान होने दे. तब तक मैं इस विषय पर कुछ नहीं बोलूंगा. क्योंकि फिलहाल बारामती में अलग तरह का प्रचार चल रहा है. ऐसा कहा जा रहा है कि हम फिर से साथ आएंगे. इस तरह का प्रचार कर लोगों को गुमराह किया जा रहा है. यह बयान अजीत पवार ने दिया है. लोकसभा चुनाव समाप्त होने के बाद अजीत पवार और शरद पवार का पुराना रिश्ता फिर से पूर्ववत होगा क्या? वे इस सवाल पर एक न्यूज चैनल पर बात कर रहे थे.

अजीत पवार ने कहा कि, हम फिर से साथ आएंगे, इसे लेकर जो प्रचार बारामती में किया जा रहा है, इसे लेकर मेरे मतदाताओं, सहकर्मियों और कार्यकर्ताओं में संदेश जाना चाहिए कि, मैंने जो राजनीतिक रुख अपनाया है उस पर मैं कायम रहूंगा. लोग मेरा साथ दे, बड़ा आशीर्वाद दे और मतदाता मुझे भरपूर समर्थन दे.

बहन के खिलाफ प्रचार करने में वेदना होती है क्या, इस सवाल पर अजीत पवार ने कहा कि चुनाव में भावनात्मक रिश्ते नहीं चलते है. मैंने तय किया है कि ७ मई तक भावनात्मक नहीं होउ़ंगा, नरम नहीं पड़ूंगा. बारामती का अधिक विकास होना चाहिए. राज्य सरकार और केंद्र सरकार मिलकर काम करे तो अधिक तेजी से काम होगा.

उन्होंने कहा कि बारामती सीट पर जहां चुनावी घमासान जारी है वहीं अन्य उम्मीदवार भी जोर आजमाइश कर रहे है. यह लड़ाई भावनात्मक या गांव की लड़ाई नहीं है. देश के लिए यह लड़ाई लड़नी है.

Chandrakant Patil Meets Sanjay Kakade | संजय काकडे की नाराजगी दूर करने का भाजपा का प्रयास, चंद्रकांत पाटिल ने की मुलाकात

Kondhwa Police Pune | मकोका मामले में फरार आरोपी को कोंढवा पुलिस ने किया गिरफ्तार

Pune Lok Sabha Election 2024 | बगैर गाजे बाजे के वसंत मोरे ने किया नामांकन!

Ajit Pawar | अजीत पवार मुश्किल में, ‘इस’ बयान की चुनाव आयोग करेगी जांच, कचाकचा बटन दबाए, तभी मुझे फंड… (Videos)

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *