सावधान ! आज शाम 6 बजकर 5 मिनट पर पृथ्वी से टकरा सकता है ये विशालकाय उल्कापिंड, मारे जायेंगे लाखों लोग ?

0

नई दिल्ली : पोलिसनामा ऑनलाइन – ब्रह्मांड में बहुत से उल्कापिंड, धूमकेतु और क्षुद्र ग्रह तैर रहे हैं। ये बेक़ाबू हैं और किसी भी ग्रह के गुरुत्वाकर्षण के दायरे में आने पर उससे टकराकर ख़त्म हो जाते हैं। कभी-कभी ऐसा टकराव भारी तबाही ला सकता है। हमारी धरती ने इसका एक सबूत 1908 में साइबेरिया के टुंगुस्का में देखा था।  जब एक क्षुद्र ग्रह धरती से टकराने से पहले जलकर नष्ट हो गया था। इसकी वजह से क़रीब 100 मीटर बड़ा आग का गोला बना था।  इसकी चपेट में आकर 8 करोड़ पेड़ नष्ट हो गए थे। ऐसी किसी तबाही से बचाने के लिए दुनिया के कई वैज्ञानिक जुटे हुए हैं।

इसी क्रम में आसमान से एक क्षुद्रग्रह तेजी से पृथ्वी की तरफ आ रहा है। इसका आकार किसी भी मानव निर्मित आकार से कई गुना बड़ा है। रिपोर्ट के मुताबिक, शनिवार यानि आज शाम 6 बजकर 5 मिनट पर यह पृथ्वी से टकरा सकता है। नासा सेंटर फॉर नियर एअर्थ ऑब्जेक्ट स्टडीज (CNEOS) के हवाले से एक मीडिया रिपोर्ट में ऐसा दावा किया गया है।

पृथ्वी से टकराने पर चंद सेकंड में मारे जा सकते है लाखों लोग –

इसका आकार इतना बड़ा बताया जा रहा है कि पृथ्वी के जिस भी हिस्से से ये स्पेस रॉक टकराएगा उसमें लाखों लोग सेकेंड में मारे जा सकते हैं। इसकी कक्षा के बारे में खगोल वैज्ञानिकों को जानकारी है। इसके आकार का अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि इसकी चौड़ाई एक किलोमीटर के दायरे के बराबर है। हालांकि अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी (नासा ) ने इस क्षुद्रग्रह को ट्रैक कर लिया है और कहा है कि धरती को इससे कोई खतरा नहीं है। ये काफी ताकतवर है और काफी खतरनाक है। यह करीब 54,717 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से पृथ्वी की तरफ तेजी से बढ़ रहा है। पृथ्वी से इसके टकराने के बाद यहां के मौसम पर भी इसका असर पड़ सकता है।

इसका नाम 2002 PZ39 बताया जा रहा है। इसके टकराने का असर ऐसा हो सकता है कि धरती के एक बड़े भूभाग यानि एक पूरे महाद्वीप को पल भर में नष्ट कर सकता है। रिपोर्ट में इसकी लंबाई बुर्ज खलीफा टॉवर से भी उंचा बताया जा रहा है। यह एक पृथ्वी के पास की कक्षा के आस-पास घूमता है, इस तरह से हर बार एक टकराव की संभावना अधिक बन जाती है।

सोशल मीडिया लोग अपना डर का कर रहे इजहार –

इस विशालकाय जानलेवा क्षुद्रग्रह तेजी से धरती की तरफ बढ़ता देख सोशल मीडिया पर लोग अपनी चिंता प्रकट कर रहे हैं। लोग काफी डरे हुए थे और उन्होंने ट्वीट कर मानव जाति को इसके लिए जिम्मेदार ठहराना शुरू कर दिया था।

 

You might also like