जम्मू-कश्मीर पर केंद्र का बड़ा फैसला, अर्धसैनिक बलों की 72 कंपनियों को सरकार ने वापस बुलाया  

0

श्रीनगर : पॉलीसेनामा ऑनलाईन – जम्मू-कश्मीर पर केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। अगस्त में धारा 370 हटने से पहले वहां पर सरकार भारी संख्या में सुरक्षाबल तैनात किया था। अब पांच महीने बाद हालात में सुधार को देखते हुए अर्धसैनिक बलों की 72 कंपनियों को हटाने का फैसला किया है। पिछले दिनों उच्च स्तरीय सुरक्षा बैठक हुई थी। इस दौरान अर्धसैनिक बलों की 72 कंपनियों की वापसी और जम्मू-कश्मीर में नजरबंद किए गए नेताओं की स्थिति पर भी चर्चा हुई है। जिसके बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने तत्काल प्रभाव से केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर से अर्धसैनिक बलों की 72 कंपनियों की वापसी के आदेश दिए हैं।

बता दें कि गृह मंत्रालय की ओर से यह आदेश 23 दिसंबर को ही जारी किया गया था। कश्मीर में अब हालात तेजी से सामान्य हो रहे हैं। सीआरपीएफ की 24 और बीएसफ, आईटीबीपी, सीआईएसएफ और सीएपीएफ की 12-12 टुकड़ियों को वापस बुलाया जाएगा। सीआरपीएफ के अतिरिक्त महानिदेशक और जम्मू व कश्मीर के प्रभारी जुल्फिकार हसन ने बताया कि आदेश में बताया गया था कि मंत्रालय इस आंतरिक मामले की समीक्षा करेगा। वापस भेजी जा रही इन 72 कंपनियों को अपने पूर्व स्थान पर जाना होगा। दिल्ली से भेजे गए 70 हजार से अधिक जवान अब वापस दिल्ली में तैनात होंगे। ध्यान रहे कि दिल्ली में 26 जनवरी को होने वाली गणतंत्र दिवस परेड भी नजदीक है।

सेना के एक अधिकारियों ने कहा, कि केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) की कुल 72 कंपनियों को देश भर में अपने स्थानों पर ‘लौटने’ को कहा गया है। इस तरह की एक कंपनी में करीब 100 कर्मी होते हैं। सीआरपीएफ, बीएसएफ, आईटीबीपी, सीआईएसएफ और एसएसबी से ली गयी इन टुकड़ियों को जम्मू कश्मीर में भेजा गया था। इस महीने की शुरूआत में घाटी से ऐसी करीब 20 कंपनियों को वापस भेज दिया गया था।

You might also like