CWC 19 : हा मुझसे गलत हुई. लेकिन मुझे इसका अफ़सोस नहीं, वर्ल्ड कप के फाइनल के अम्पायर पंच कुमार धर्मसेना की रुख

0
कोलंबो : पुलिसनामा ऑनलाईन – क्रिकेट वर्ल्ड कप के फाइनल मुकाबले में इंग्लैंड ने  न्यूजीलैंड को हराकर वर्ल्ड कप जीता था ।  इंग्लैंड की इस जीत में आखिरी ओवर में किये गए ओवर थ्रो से मिले छह रनों ने जीत में निर्णायक भूमिका निभाई। ओवरथ्रो में दिए गए 6 रन देने को दुनिया भर के क्रिकेट विशेषज्ञों का मानना है ।  अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अम्पायर  भूमिका निभाने वाले अधिकांश अम्पायर ने फाइनल मुकबले के अम्पायर के निर्णय को गलत बताया है।ओवरथ्रो में 6 रन देने वाले पंच कुमार धर्मसेना ने खुद भी इसे बड़ी गलती मानी है ।लेकिन इस गलती को मानते हुए धर्मसेना ने कहा है कि मानता हूं गलती हुई हैं, लेकिन मुझे इसे लेकर किसी तरह का अफ़सोस नहीं है।
आईसीसी ने मेरा समर्थन किया 
दहरसेना ने कहा, मैंने मैच के बाद टीवी रीप्ले देखा, तब मुझे पता चला की मुझे से गलती हुई है ।  लेकिन मैदान पर टीवी रीप्ले नहीं देखा जा सकता है ।  इस लिए उस वक़्त मेरे दवारा लिया गया निर्णय मानवी गलती थी ।  आईसीसी ने भी वक़्त मेरे दवारा दिए गए निर्णय को लेकर मेरा  समर्थन किया है।
इंग्लैंड की पारी में ट्रेंट बोल्ट की आखिरी ओवर की चौथी गेंद के बड़ा बेन स्टॉक्स और आदिल रशिद दौर रहे थे. मार्टिन गुप्टिल दवारा किये गए ओवरथ्रो पर बॉल स्ट्रोक्स के बैट पर लगने के बाद सीमारेखा के पार हो गई।  उस वक़्त अम्पायर धर्मसेना ने इंग्लैंड को छह रन दे दिए. इसमें स्टॉक्स और आदिल दवारा लिए गए 2 रन और बॉउंड्री के चार रन मिलकर 6 रन हो गए।
क्रिकेट के नियम के अनुसार उस वक़्त अम्पायर को 6 की जगह पांच रन देना अपेक्षित था ।   क्योकि गुप्टिल ने थ्रो मारा था, उस वक़्त स्टॉक्स और आदिल पहला रन पूरा कर चुके  थे ।  लेकिन दूसरे रन के लिए उन्होंने एक दूसरे को क्रॉस नहीं किया। ऐसे में चार और एक रन मिलकर पांच रन देना चाहिए था ।   लेकिन अम्पायर धर्मसेना की गलती से एक रन ज्यादा मिल गए और इसका फायदा इंग्लैंड को मिला। मैच टाई होने के बाद सुपर ओवर में पहुंच गया।
क्या है आईसीसी का नियम 
आईसीसी का नियम 19. 8 के अनुसार अगर फील्डर के  ओवरथ्रो या अन्य किसी वजह से गेंद सीमारेखा के बाहर जाती है तो टीम को
पेनल्टी, 4 रन, थ्रो होने तक बैट्समैन दवारा पूरा किये गए रन मिलेंगे।
सबसे अधिक बॉउंड्री के आधार पर इंग्लैंड  को जीत मिली 
न्यूजीलैंड ने निर्धारित 50 ओवर में 242 रनों की चुनौती दी थी. इंग्लैंड ने 50 ओवर में 241 रन बनाये। मैच टाई हो गया।  इसके बाद मैच का निर्णय सुपर ओवर में होना था।  सुपर ओवर में इंग्लैंड की तरफ से 15 रन बनाये गए. न्यू जीलैंड के सामने 16 रनों की चुनौती थी ।  लेकिन न्यूजीलैंड भी 15 रन बना सकी और मैच फिर से टाई हो गया ।  इसके बाद इंग्लैंड को सबसे अधिक बॉउंड्री लगाने के आधार पर जीत दे दी गई ।   इंग्लैंड ने इस मैच में 24 बॉउंड्री लगाए थे जबकि न्यूजीलैंड ने 16 बॉउंड्री लगाई थी ।
You might also like