राज्य में नहीं बनेगा डिटेंशन सेंटर, ठाकरे सरकार ने देवेन्द्र फडणवीस के आदेश पर लगाई रोक

0

मुंबई : पोलीसेनामा ऑनलाइन – देश के कई हिस्सों में लोग नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और NRC के खिलाफ सड़कों पर उतर आए हैं. इनको लेकर प्रदर्शन इतना उग्र हो गया कि सरकारी संपतियों को आग के हवाले कर दिया गया. सैकड़ों प्रदर्शनकारी और पुलिसकर्मी भी जख्मी हो गए और कुछ की जान चली गई. इसको लेकर अब विरोधी पार्टियां भाजपा के खिलाफ खड़ी हो गई हैं.

हालाँकि हाल में CAA को लेकर माहौल थोड़ा शांत हो गया है. लेकिन NRC को लेकर अभी भी अल्पसंख्यक लोगों में डर बना हुआ है. ऐसे में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य में डिटेंशन सेंटर न बनाने का ऐलान किया है. बता दें कि उन्होंने यह फैसला 23 दिसंबर को मुस्लिम समुदाय के प्रतिनिधियों से बातचीत करने के बाद लिया है.

बता दें कि गृह मंत्रालय से मंजूरी मिलने के बाद फडणवीस सरकार ने राज्य में रह रहे अवैध प्रवासियों के लिए महाराष्‍ट्र में डिटेंशन सेंटर बनाने के निर्देश दिया था, जिस पर ठाकरे सरकार ने रोक लगा दी है.

देश के कई हिस्‍सों में हुए हिंसक प्रदर्शन
देश जानता है कि पिछले दिनों देश के कई हिस्से CAA और NRC की आग में जल रहे थे. देश की राजधानी दिल्‍ली, नार्थ-ईस्ट राज्यों सहित  हिस्‍सों में हिंसक विरोध-प्रदर्शन देखा गया. उत्‍तर प्रदेश में कुछ लोगों की मौत तक हो गई. यहां तक की प्रदर्शनाकरियों ने पुलिस तक को नहीं बख्शा.

You might also like