Post_Banner_Top

एचसीएमटीआर कृति समिति की अपील , एचसीएमटीआर के लिए नागरिकों को बेघर न करें

0

पुणे : पुलिसनामा ऑनलाईन – एचसीएमटीआर (अंदरूनी रिंग रोड) के लिए वड़गांव शेरी स्थित डिफेन्स के वायरलेस सेंटर की बिना इस्तेमाल पड़ी जगह का उपयोग किया जाए। स्थानीय नागरिकों के मकान बाधित हों, इस प्रकार से इस रूट का मापन नहीं किया जाए, यह मांगें वड़गांव शेरी एचसीएमटीआर कृति समिति ने की है। नागरिकों की राय नजरअंदाज कर मनचाही पद्धति से मनपा अधिकारी भू-संपादन करने का प्रयास कर रहे हैं, यह आरोप समिति ने लगाया है। इस सड़क का मापन और

भू-संपादन के विरोध में आंदोलन व कोर्ट में अपील करने का निर्णय समिति ने लिया है। शहर की यातायात समस्या से हल निकालने 36 किलोमीटर लंबाई का एचसीएमटीआर डेवलप किया जाएगा। उसके लिए मनपा व नगर भूमापन अधिकारियों के जरिए संयुक्त मापन जारी है। उसका 90 प्रतिशत कार्य पूरा हो गया है। लेकिन इस मापन के लिए अधिकारियों ने प्राइवेट संस्था द्वारा तैयार किए नक्शे का आधार लिया है। यह नक्शा गैरकानूनी होने का दावा समिति ने किया है।

इस नक्शे में कुछ जगहों पर एचसीएमटीआर मूल विकास रूपरेखा के अनुसार 24 मीटर चौड़ा दिखाने के बजाय 42 से 50 मीटर चौड़ा दिखाया गया है। इसलिए मूल डीपी के अनुसार सड़क नहीं बनाने पर नागरिकों का काफी नुकसान होगा। कई लोग बेघर हो जाएंगे, यह आरोप समिति ने लगाया है। इस बारे में समिति ने बुधवार को मनपा कार्यालय में पीड़ित नागरिकों की बैठक आयोजित की थी। लेकिन इस बैठक में मनपा के अधिकारी इसी तरह से भू-मापन करने पर कायम थे। इसलिए मनपा के अधिकारियों द्वारा नागरिकों की बात सुने बगैर मनचाही पद्धति से सड़क मोड़कर चौड़ा कर भू-संपादन करने का प्रयास जारी रखने का आरोप समिति के भीमराव गलांडे, नारायण गलांडे, विशाल सातव, डॉ। शिवाजी विभुते, अनिल नवले, नगरसेवक महेंद्र पठारे व भैय्यासाहेब जाधव ने लगाया है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like