गलती नहीं तो डर किस बात का? : मुख्यमंत्री फड़णवीस 

0
मुंबई : पुलिसनामा ऑनलाइन – मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे को भेजे गए ईडी के नोटिस को लेकर मैं अनभिज्ञ हूं. राज ठाकरे की अगर गलती नहीं है, तो उन्हें घबराने की क्या जरूरत है? यह प्रतिक्रिया मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने सोमवार को व्यक्त की.
22 अगस्त को पूछताछ के लिए बुलाया गया 
दादर के कोहिनूर मिल की जमीन खरीदी मामले में मनसे प्रमुख राज ठाकरे और पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर जोशी के बेटे उन्मेष जोशी को ईडी ने नोटिस भेजा है. राज ठाकरे को 22 अगस्त के दिन पूछताछ के लिए हाज़िर होने का आदेश दिया गया है. राज ठकरे को नोटिस भेजे जाने के बाद विरोधी दलों ने राज ठाकरे का समर्थन करते हुए सरकार पर हमला बोला है। मनसे कार्यकर्ताओं में भी इसे लेकर काफी गुस्सा है.
ईडी एक स्वतंत्र संस्था 
जब मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस से इस संबंध में पूछा गया तो उन्होंने नोटिस भेजे जाने को लेकर अनभिज्ञ होने की बात करते हुए कहा कि ईडी एक स्वतंत्र मशीनरी है. उसका राज्य सरकार से कोई संबंध नहीं है. नोटिस आया है तो उसका जवाब देना चाहिए। गलती नहीं है तो इसमें घबराने की जरुरत क्या है?
सरकार के खिलाफ आवाज उठाने की वजह से भेजा गया नोटिस 
मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे ने हमेशा सरकार की पॉलिसी को लेकर आवाज उठाई है. लोकसभा चुनाव में उन्होंने मोदी सरकार का पर्दाफाश किया था।  उन्होंने अन्य दलों को एकजुट कर ईवीएम के खिलाफ जनांदोलन छेड़ रखा है।  माना जा रहा है कि इसी वजह से उन्हें ईडी का नोट्स भेजा गया है।  सरकार की इस नीति का कांग्रेस जमकर विरोध करती है. यह प्रतिक्रिया महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष बालासाहेब थोरात ने दी है।
You might also like