पुणे जिले में 4502 मरीज हुए कोरोना मुक्त

0

पुणे : पोलिसनामा ऑनलाइन – वैश्विक महामारी कोरोना का प्रकोप बरकरार है, हालांकि इसकी रिकवरी रेट में काफी सुधार नजर आ रहा है। कोरोना का हॉटस्पॉट रहे पुणे जिले में मरीजों की संख्या 7773 तक पहुंच गई है है। इसमें से 337 मरीजों की मौत हो चुकी है जबकि 4502 मरीज स्वस्थ होकर अस्पताल से घर लौट चुके हैं। फिलहाल 2934 मरीजों का इलाज चल रहा है जिसमें से 203 की तबीयत गंभीर है।

पुणे संभाग (पुणे, सातारा, सांगली, सोलापुर, कोल्हापुर जिले) में कोरोना ग्रस्त मरीजों की संख्या 9961 तक पहुंच गई है। इसमें से 5249 मरीजों को इलाज के बाद अस्पताल से घर छोड़ दिया गया है। फिलहाल 4256 संक्रमितों का अस्पतालों में इलाज जारी है जिसमें से 216 मरीजों की हालत गंभीर बताई गई है। इस महामारी ने अब तक 456 मरीजों को अपनी चपेट में लिया है।

आज पूरे पुणे संभाग में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 212 से बढ़ गई है। इसमें से पुणे जिले में 103, सातारा जिले में 4, सोलापूर जिले में 58, सांगली जिले में 2 और कोल्हापूर जिले में 45 मरीज बढ़े हैं। पुणे संभाग में आज तक कुल 89 हजार 503 मरीजों के सैंपल जांच के लिए लिये गए। इसमें से 84 हजार 889 मरीजों की रिपोर्ट मिल चुकी है जिसमें 74 हजार 818 मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव मिली है। फिलहाल 4614 मरीजों की रिपोर्ट मिलनी बाकी है। संभाग में कुल 9961 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है जिसमें अकेले पुणे जिले के पॉजिटिव मरीजों की संख्या 7773 है।

विदेशों में फंसे भारतीयों को भारत लाने के लिए शुरू किये गए वंदे मातरम मिशन के पहले चरण में 457 और दूसरे चरण में 294 कुल 751 यात्रियों का पुणे में आगमन हुआ है। इन सभी को इंस्टिट्यूशनल क्वारंटाइन किया गया है। लॉकडाउन के दौरान पुणे ने फंसे दूसरे राज्यों के प्रवासी मजदूरों, विद्यार्थियों और सैलानियों को उनके राज्य व ग्रामगृह भेजने की मुहिम के तहत आज तक कुल 154 ट्रेनें रवाना की गई। इनमें दो लाख चार हजार 848 यात्रियों को उनके ग्रामगृह भेजा गया। पुणे संभाग से अब तक मध्यप्रदेश के लिए 15, उत्तरप्रदेश के लिए 61, उत्तराखंड के लिए 2, तमिलनाडू के लिए 2, राजस्थान के लिए 5, बिहार के लिए 36, हिमाचल प्रदेश के लिए 1, झारखंड के लिए 8, छत्तीसगड के लिए 5, जम्मू-कश्मीर, मणिपुर, असम, मिजोरम के लिए एक- एक, ओरिसा के लिए 2, पश्चिम बंगाल 13 ट्रेनें छोड़ी गई हैं

You might also like