भारत ने अमेरिका को दिया तगड़ा जबाव, 16 जून से इन 29 सामानों पर लगेगा ‘डबल टैक्स’

0
नई दिल्ली : पुलिसनामा ऑनलाईन – अमेरिका को उसी की भाषा में जबाव देने के लिए भारत ने अमेरिका से आयात होने वाली कृषि प्रोडक्ट सहित 29 सामानों पर आयात शुल्क बढ़ाने की तैयारी की है । मिली जानकारी के अनुसार मोदी सरकार कृषि उत्पादन, स्टील उत्पादन का आयात शुल्क दोगुना करने की तैयारी की है । ऐसे में अमेरिका से आयात होने वाली सामानों को भारत में बेचने के लिए ज्यादा टैक्स देना होगा और अमेरिकी सामान भारत को बाज़ारों में काफी महंगा हो जाएगा।
इस संबंध में जल्द सरकार की तरफ से इसकी घोषणा की जाएगी। इस संदर्भ पहले ही निर्णय लिया जा चुका है और अमेरिकी सरकार से इस बार बातचीत चल रही है । वित्त वर्ष 2017 -2018 में भारत से होने वाले निर्यात 47. 9 अरब डॉलर का था. जबकि आयात 26. 7 अरब डॉलर का हुआ था ।
मोदी सरकार का बड़ा निर्णय 
सरकार ने बादाम, अखरोट, दाल सहित 29 अमेरिका से आयात होने वाले वस्तुओ पर 16 जून से आयात शुल्क बढ़ाने का निर्णय लिया है । अबतक इस निर्णय को लागू करने की तारीख कई बार आगे बढ़ाया जा चुका है । सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अब सरकार इस संबंध में जल्द अधिसूचना जारी करेगी। सरकार दवारा अमेरिकी सामान पर आयात शुल्क बढ़ाने से देश को  21. 7 करोड़ रुपए से अधिक का राजस्व प्राप्त होगा।
इन सामानों पर आयात शुल्क बढ़ेगा
* काबुली चना का शुल्क 30% से बढ़कर 70% हो जाएगा।
*मसूर दाल का शुल्क 30% से बढ़कर 70% हो जाएगा।
* सेव पर आयात शुल्क 50% से बढ़कर 75% हो जाएगा।
* अखरोट पर शुल्क 30% से बढ़कर 120 % हो जाएगा।
* लोहे के उत्पादन पर शुल्क 25% से बढ़कर 27. 5 % हो जाएगा।
* स्टील के उत्पादन शुल्क 15 % से बढ़कर 22. 5 % हो जाएगा।
क्यों लिया गया यह निर्णय 
जून महीने के शुरुआत में अमेरिका ने भारत को दिए जा रहे लाभार्थी विकासशील देश का दर्जा हटा लिया था । यह दर्जा भारत को 1975 से प्राप्त था । डोनाल्ड ट्रम्प सरकार दवारा की गई घोषणा के अनुसार 5 जून से करीब 2000 उत्पादों के शुल्क पर दी गई छूट बंद कर दी गई है । इसके कारण भारत के कई उत्पाद अमेरिकी बाजार में महंगे हो गए । इसी का भारत ने जबाव दिया है ।

नई दिल्ली : समाचार ऑनलाईन – अमेरिका को उसी की भाषा में जबाव देने के लिए भारत ने अमेरिका से आयात होने वाली कृषि प्रोडक्ट सहित 29 सामानों पर आयात शुल्क बढ़ाने की तैयारी की है । मिली जानकारी के अनुसार मोदी सरकार कृषि उत्पादन, स्टील उत्पादन का आयात शुल्क दोगुना करने की तैयारी की है । ऐसे में अमेरिका से आयात होने वाली सामानों को भारत में बेचने के लिए ज्यादा टैक्स देना होगा और अमेरिकी सामान भारत को बाज़ारों में काफी महंगा हो जाएगा।
इस संबंध में जल्द सरकार की तरफ से इसकी घोषणा की जाएगी। इस संदर्भ पहले ही निर्णय लिया जा चुका है और अमेरिकी सरकार से इस बार बातचीत चल रही है । वित्त वर्ष 2017 -2018 में भारत से होने वाले निर्यात 47. 9 अरब डॉलर का था. जबकि आयात 26. 7 अरब डॉलर का हुआ था ।
मोदी सरकार का बड़ा निर्णय 
सरकार ने बादाम, अखरोट, दाल सहित 29 अमेरिका से आयात होने वाले वस्तुओ पर 16 जून से आयात शुल्क बढ़ाने का निर्णय लिया है । अबतक इस निर्णय को लागू करने की तारीख कई बार आगे बढ़ाया जा चुका है । सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अब सरकार इस संबंध में जल्द अधिसूचना जारी करेगी। सरकार दवारा अमेरिकी सामान पर आयात शुल्क बढ़ाने से देश को  21. 7 करोड़ रुपए से अधिक का राजस्व प्राप्त होगा।
इन सामानों पर आयात शुल्क बढ़ेगा
* काबुली चना का शुल्क 30% से बढ़कर 70% हो जाएगा।
*मसूर दाल का शुल्क 30% से बढ़कर 70% हो जाएगा।
* सेव पर आयात शुल्क 50% से बढ़कर 75% हो जाएगा।
* अखरोट पर शुल्क 30% से बढ़कर 120 % हो जाएगा।
* लोहे के उत्पादन पर शुल्क 25% से बढ़कर 27. 5 % हो जाएगा।
* स्टील के उत्पादन शुल्क 15 % से बढ़कर 22. 5 % हो जाएगा।
क्यों लिया गया यह निर्णय 
जून महीने के शुरुआत में अमेरिका ने भारत को दिए जा रहे लाभार्थी विकासशील देश का दर्जा हटा लिया था । यह दर्जा भारत को 1975 से प्राप्त था । डोनाल्ड ट्रम्प सरकार दवारा की गई घोषणा के अनुसार 5 जून से करीब 2000 उत्पादों के शुल्क पर दी गई छूट बंद कर दी गई है । इसके कारण भारत के कई उत्पाद अमेरिकी बाजार में महंगे हो गए । इसी का भारत ने जबाव दिया है ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like