LPG गैस सिलेंडर लेने से पहले रखें ‘इन’ बातों का ध्यान, नहीं तो हो सकता है भारी नुकसान

0

पोलिसनामा ऑनलाईन – वर्तमान में लगभग हर घरों में गैस सिलेंडर इस्तेमाल होने लगा है. यहां तक की मोदी सरकार की प्रधानमंत्री उज्ज्वला स्कीम के बाद अब पिछड़े व ग्रामीण इलाकों में भी LPG गैस सिलेंडर रसोईघर का हिस्सा बन गया है. लेकिन अगर गैस इस्तेमाल को लेकर सावधानी नहीं बरती जाए, तो यह जानलेवा भी साबित हो सकता है. इसके बावजूद बेहद कम लोगों को ही मालूम होगा कि गैस सिलेंडर लेने से पहले किन-किन सुरक्षा मापदंडों पर ध्यान देने की जरूरत है. इसलिए आज इससे जुड़ी अहम बातें आपको बताने जा रहे हैं, जो कि गैस सिलेंडर यूज करने वालों को जाननी बेहद जरूरी चाहिए.

 

–    सिलेंडर लेने से पहले उसकी एक्सपायर डेट ठीक से देख लें, क्योंकि एक्सपायरी के बाद सिलेंडर फटने का खतरा रहता है.

–    अगर सिलेंडर की एक्सपायरी डेट निकल गई है, तो उस पर लगी सील कमजोर हो जाती है और आसानी से निकल जाती है. इस वजह से गैस लीक होती रहती है और टंकी फुट भी सकती है.

–    यह जरुर देख ले कि सिलेंडर नीचे से कहीं गला हुआ तो नहीं है. क्योंकि पुराने होने या फिर उठाने रखने के समय ऐसा हो सकता है. इसलिए ऐसा सिलेंडर खतरे की घंटी है.

–    सिलेंडर की सील की भी अवश्य जाँच कर लें. देंखे कहीं से गैस तो लीक नहीं हो रही है.

–    अगर आप खुद सिलेंडर लेने गैस एजेंसी या गोदाम जाते हैं, तो डिलीवरी चार्ज कम करवा सकते हैं. क्योंकि एजेंसिया होम डिलीवरी पर चार्ज लेती हैं, जो कि सिलेंडर की कीमत में है शामिल होता है. आप लगभग 19.50 रुपये डिलीवरी चार्ज कम करवा सकते हैं, क्योंकि फ़िलहाल इतना चार्ज ही वसूला जा रहा है.

 

ऐसे जाने एक्सपायरी डेट
बता दें कि एक्सपायरी डेट का पता आप सिलेंडर पर लिखे कोड को देखकर लगा सकते हैं. क्योंकि इसमें ही इससे संबंधित जानकारी दी होती है. इस जानकारी को 4 (सालभर के लिए) हिस्सों में बांटा जाता है. इसमें जनवरी, फरवरी, मार्च के लिए ए, अप्रैल, मई, जून के लिए बी, जुलाई, अगस्त, सितंबर के लिए सी और अक्टूबर, नवंबर, दिसंबर के लिए डी लिखा होता है और  इसके आगे साल अंकित होता है.

अपनी शिकायतों को यहां करें दर्ज
अगर आपको गैस सिलिंडर को लेकर कोई शिकायत है तो आप टोल फ्री नंबर 18002333555 पर शिकायत दर्ज करा सकते हैं.

You might also like