स्व.आर.आर. पाटिल के एसीपी भाई को क्राइम ब्रांच की बागडोर

0
पिंपरी : पुलिसनामा ऑनलाईन – क्राइम ब्रांच के पांच यूनिट्स में विस्तार करने के बाद पिंपरी चिंचवड़ पुलिस आयुक्त आर.के. पद्मनाभन ने इन पांच यूनिट्स के अलावा क्राइम ब्रांच के दूसरे सेलों का विभाजन किया है। इन तमाम यूनिट्स को दो एसीपी में बांटकर क्राइम 1 और क्राइम 2 बना है। इसमें से क्राइम 1 की बागडोर हालिया पिंपरी चिंचवड़ आयुक्तालय में नियुक्त हुए एसीपी आरआर पाटिल और क्राइम 2 की बागडोर एसीपी श्रीधर जाधव को सौंपी है। बीती देर शाम इन नियुक्तियों के आदेश जारी किए गए हैं।

पिंपरी चिंचवड पुलिस आयुक्तालय कार्यान्वित होने के बाद एसीपी सतीश पाटील को क्राइम ब्रांच की बागडोर सौंपी गई थी। उनके रिटायर होने के बाद क्राइम ब्रांच को एसीपी की नियुक्ति की प्रतीक्षा थी। इस बीच एसीपी आरआर पाटिल (राजाराम रामराव पाटिल) जोकि महाराष्ट्र के पूर्व उपमुख्यमंत्री व गृहमंत्री स्व आरआर पाटिल के भाई हैं, की पिंपरी चिंचवड़ में नियुक्ति हुई। बीते दिन उन्होंने यहां पहुंचकर अपना पदभार संभाल लिया। पुलिस आयुक्त आरके पद्मनाभन ने हालिया क्राइम ब्रांच का विस्तार किया है। पहले क्राइम ब्रांच के दो यूनिट्स थे, जो अब विस्तार के बाद पांच हो गए हैं।

विस्तारित यूनिट्स में भोसरी, चिखली, भोसरी एमआयडीसी थानों के लिए भोसरी, पिंपरी, चिंचवड, निगडी थानों के लिए पिंपरी, चाकण, दिघी, आलंदी थानों के लिए चाकण, हिंजवडी, वाकड, सांगवी थानों के लिए वाकड़, तलेगांव, तलेगांव एमआयडीसी, देहूरोड थानों के लिए देहूरोड यूनिट शामिल हैं। इसके बाद एसीपी राजाराम पाटिल को क्राइम 1 और एसीपी श्रीधर जाधव को क्राइम 2 की जिम्मेदारी सौंपी गई। पाटिल के पास भोसरी, पिंपरी, चाकण इन तीन युनिट के अलावा फिरौती/ डकैती प्रतिबंध विभाग, तकनीकी विश्लेषण दस्ता, नशीले पदार्थ विरोधी दस्ता, आर्थिक अपराध शाखा और जाधव के पास वाकड, देहूरोड युनिट के साथ अपराध प्रतिबंध शाखा, एमओबी, साईबर अपराध, महिला शिकायत निवारण कक्ष, फ्रॉरेंन्सिक युनिट, डॉग स्कॉड इन विभागों की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like