मोदी सरकार ने दिया किसानों को तोहफा ! 14 फसलों में 50-83% ज्यादा मिलेगा दाम

0

नई दिल्ली : समाचार ऑनलाइन – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आज हुई कैबिनेट बैठक हुई। इस दौरान कई अहम और एतिहासिक फैसले लिये गये हैं। बता दें कि आज ही से कंटेनमेंट ज़ोन में पांचवें चरण का लॉकडाउन 5.0 के साथ अनलॉक 1.0 भी शुरू हुआ है। गौरतलब हो कि हाल मोदी सरकार 2.0 का पहला साल पूरा हो चुका है। इसलिए ये बैठक काफी खास माना जा रहा है। इस दौरान केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि एमएसएमई को 20 हजार करोड़ लोन के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है, जिससे नौकरी के बढ़ेंगे अवसर।

कैबिनेट के फैसले से करोड़ों किसानों को लाभ होगा। दरअसल किसानों को राहत पहुंचाने के लिए सरकार ने 14 फसलों में 50 से 83 फीसदी तक ज्यादा दाम देने का फैसला किया है। कैबिनेट बैठक के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा कि न्यूनतम समर्थन मूल्य में बड़ी बढ़ोतरी की गई है। किसानों के लिए सरकार की तरफ से यह बड़ा ऐलान है।

14 फसलों में 50-83% ज्यादा मिलेगा दाम –
मक्का के समर्थन मूल्य में 53 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है। तूअर और मूंग में 58 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है। तोमर ने कहा कि 14 फसल ऐसी हैं, जिसमें किसानों को 50 से 83 फीसदी तक ज्यादा समर्थन मूल्य दिया जाएगा। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि किसानों की फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य की कुल लागत का डेढ़ गुना ज्यादा रखने का वादा सरकार पूरा कर रही है। खरीफ फसल 20-21 के 14 फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य जारी कर दिया गया है। इन 14 फसलों पर किसानों को लागत का 50-83% तक ज्यादा दाम हासिल होगा।

इस तरह है ब्याज छूट योजना –
केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि ब्याज छूट योजना के तहत 31अगस्त तक जो किसान अपनी ऋण अदायगी करेगा, उसको 4% ब्याज पर ही कर्जा मिलेगा। अभी तक सरकार ने 360 लाख मिट्रिक टन गेहूं, 95 लाख मिट्रिक टन धान और 16.07 लाख मिट्रिक टन दाल खरीदा है। बता दें कि छोटे सेक्टर में टर्नओवर सीमा 50 करोड़ किया है. गडकरी ने कहा कि एमएसएमई अभी कठिन दौर से गुजर रहा है। 2 लाख एमएसएमई नए फंड से शुरू किए जाएंगे। कमजोर उद्योगों को उभारने के लिए 4 हजार करोड़ के फंड को मंजूरी मिली है। इसे सरकार का अच्छा कदम माना जा रहा है।

You might also like