मप्र. में हनी ट्रैप को लेकर बड़ा खुलासा, कईयों को अपने मोहजाल में फंसाया, अब खुद फंसी, 3 युवतियां गिरफ्तार   

0

भोपाल: पुलिसनामा ऑनलाइन – अपनी सुंदरता के मोहजाल में फंसा कर राज्य में कई युवतियां नामी नेताओं, बड़े बिजनेसमैन, अधिकारीयों और कई रईसों को अपना निशाना बना रही हैं. हाल ही में ऐसी 3 शातिर महिलाओं को गिरफ्त में लिया गया है, जिन्होंने न जानें कितने लोगों को अपनी सुंदरता के जाल में फाँस कर, उनकी जेबे खाली की हैं. लेकिन ये इज्जतदार इस बात से अंजान थे कि जिस सुंदरता के वे दीवाने बने हुए है, वो सिर्फ उन्हें फांसने का जाल था. यानि की वे हनीट्रैप के शिकार हुए थे.

पुलिस के सामने किए अहम खुलासे
पुलिस को पूछताछ में पता लगा है कि ये महिलाएं ऐश की लाइफ जीती हैं, पॉश एरिया में इनके घर हैं. बड़ा शिकार फंसाने के बाद कोई इनपर शक ना करें इसलिए समय-समय पर ये अपने ठिकाने भी बदलती रहती थी. इन महिलाओं के रसूख का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि बड़े-बड़े नेताओं, अधिकारीयों और कारोबारियों के साथ उनका बैठना-उठाना है.

राज्य के इन शहरों से पुलिस के हत्थे चढ़ी ये 3 सुंदरियां
लोगों को अपने झांसे में फंसाने के बाद उनसे ब्लैकमेलिंग करने वाली इन महिलाओं में श्वेता जैन, आरती दयाल और मोनिका यादव को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस और एटीएस इंटेलिजेंस की संयुक्त टीम ने यह कार्रवाई की थी. इन तीनों ने फ़िलहाल भोपाल को अपना ठिकाना बना रखा था.

श्वेता रह रही थी मंत्री के घर में, सभी पर लोगों को फंसाने का आरोप
बता दें कि श्वेता जैन को भोपाल की सबसे पॉश मानी जाने वाली रिवेरा टाउन कॉलोनी से गिरफ्तार किया है. वे पूर्व मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के विधायक बृजेंद्र प्रताप सिंह के मकान में 35 हजार रुपये प्रति माह का किराया देकर रह रही थी.

वहीं आरती दयाल छतरपुर की निवासी है. नगर निगम के एक कर्मचारी को ब्लैकमेल करने के आरोप में  इंदौर से आरती दयाल और मोनिका यादव को गिरफ्तार किया गया.

पुलिस कर रही है पूछताछ, कई बड़े खुलासे संभव
इन तीनों पर कई लोगों को हनीट्रैप के जाल में फंसाकर उन्हें अपना शिकार बनाने का आरोप है. पुलिस इनसे पूछताछ कर रही है. संभावना है कि इनके किन-किन नेताओं या लोगों से संबंध है? कितने लोगों को इन्हें फंसाया है? कहाँ-कहाँ इनका नेटवर्क है आदि सवालों के खुलासे हो सकते हैं.

You might also like