एनडीए के नेताओं को आज अमित शाह दे रहे डिनर, पूरनपोली से लेकर लिट्टी-चोखा भी हैं मेन्यू में शामिल

0

नई दिल्ली : पोलीसनामा ऑनलाईन – लोकसभा चुनाव 2019 खत्म होने बाद एग्जिट पोल ने तो भारतीय जनता पार्टी को ज्यादा मार्जिन से जीता दिया है। एग्जिट पोल के नतीजों से में एनडीए जहां खुश है वहीं विपक्ष पार्टियां सहमी हुई लग रही है। ज्यादातर एग्जिट पोल्स ने एमडीए को 300 से ज्यादा सीटें जीतने का अनुमान जताया गया है। वहीं विपक्ष की बात करें तो वह 130 तक में सिमट के रह गई है।

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह एग्जिट पोल के नतीजों से खुश होकर एनडीए के नेताओं को मंगलवार रात डिनर पर बुलाया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, बिहार के सीएम और जेडीयू अध्यक्ष नीतीश कुमार, एलजेपी अध्यक्ष रामविलास पासवान समेत एनडीए के दिग्गज नेता शामिल रहेंगे। अमित शाह दिल्ली के अशोका होटल में ये डिनर दे रहे हैं। शाम 7:30 बजे से मेहमानों का आना शुरू हो जाएगा। उनकी खातिरदारी के लिए बेहतर से बेहतर इंतजाम किए जा रहे हैं। इस डिनर पार्टी की बात करें तो मेन्यू की हर तरफ चर्चा होने शुरू हो गई है। करीब 35 अलग-अलग तरह के व्यंजन परोसे जाएंगे। डिनर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शिरकत करेंगे, इसलिए खास तौर से कई गुजराती डिशेज़ भी परोसी जाएंगी।

मेन्यू में क्या हैं शामिल –

इस डिनर में उद्धव ठाकरे के लिए महाराष्ट्रियन डिशेज़ बनाई जा रही है। जिसमें पूरनपोली भी शामिल है। बताया जा रहा है कि ठाकरे इस वक्त यूरोप में हैं।  उनके देर शाम मुंबई लौटने की उम्मीद है।  ऐसे में अगर वो डिनर में नहीं जा पाएं, तो उनके प्रतिनिधि के तौर पर शिवसेना के सुभाष देसाई शामिल होंगे।

अमित शाह के डिनर में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लिट्टी-चोखा और सत्तू भी परोसा जाएगा। मेन्यू में बिहार के दो-तीन व्यंजन शामिल हैं।

नॉर्थ ईस्ट के नेताओं की पसंद का रखा ख्याल अमित शाह की इस डिनर पार्टी में नॉर्थ ईस्ट के नेता भी शामिल होंगे। इस वजह से खास तौर से नॉर्थ-ईस्ट के प्रसिद्ध व्यंजनों के भी इंतजाम होंगे। साथ पंजाब के अकाली दल के नेता डिनर में आएंगे इसलिए मेन्यू में पंजाबी तड़के का भी असर दिखेगा।

बीजेपी कार्यालय के सूत्रों का कहना है कि इस डिनर का मेन्यू इस तरह से तैयार किया गया है कि अलग-अलग राज्यों के नेता अलग-अलग स्वाद चख सकें।  इस डिनर के जरिए संदेश देने की कोशिश होगी कि एनडीए में भले ही अलग-अलग राज्यों के नेता हैं, लेकिन वे एक ही परिवार के सदस्य हैं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like