file photo

इलाज कराने से मना किया, कहा- कोरोना-शोरोना कुछ नहीं है, ये आरएसएस वायरस है

नई दिल्ली : समाचार ऑनलाइन –  कोरोना से मचे कोहराम के बीच असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM के नेता अबु फैजल नए पैंतरेबाजी के साथ मैदान में उतरे हैं। एक वीडियो में पार्टी नेता कोरोना संक्रमण के बारे में बात करते हुए समुदाय विशेष अर्थात मुस्लिमों को इसका इलाज कराने से मना कर रहे हैं। फैजल कहते हैं कि कोरोना-शोरोना कुछ नहीं है। ये आरएसएस वायरस चल रहा है। सारी मीडिया को एक काम पर लगा दिया गया है कि मुस्लिम और इस्लाम को टारगेट करते रहो, ताकि देश का माहौल खराब हो सके और जो लोग गौ मूत्र पर अमल करते हैं, उनके जेहन में गौ-मूत्र चलता रहे।

 

https://twitter.com/IntrepidSaffron/status/1257577340953137152

 

हाथ तोड़ दें : वीडियो में फैजल दावा कर रहे हैं कि उनके पास पर्याप्त सबूत हैं कि कोरोना का तो केवल बहाना है। वास्तविकता में सरकार और डॉक्टर मिलकर मुस्लिम महिलाओं को ऐसा इंजेक्शन दे रहे हैं, जिनसे उनके बच्चे न हों और मुस्लिम आबादी न बढ़े। अपनी वीडियो में फैजल अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए मुस्लिम लोगों को सख्त तौर पर हिदायत दे रहे हैं कि वे किसी तरह का इंजेक्शन न लें और अगर कोई बार-बार बोले तो उसका हाथ तोड़ दें या फिर वो इंजेक्शन पहले उसे लगा दें। बता दें कि इससे पहले हैदराबाद ओल्ड सिटी में AIMIM के विधायक कंटेनमेंट जोन में पहुंचकर निगम के अधिकारियों से भिड़े गए थे। दरअसल हैदराबाद के ओल्ड सिटी इलाके में कंटेनमेंट जोन में रहने वाले लोग अचानक बेकाबू हो गए। दोपहर के समय ओल्ड मलक पेट इलाके के कंटोनमेंट ज़ोन में रहने वाले लोगों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। उनका आरोप था कि हैदराबाद महानगर निगम के लोग उन तक जरूरत की चीजें नहीं पहुंचा रहे हैं, रमजान का वक्त है ऐसे में उन्हें कई सारी चीजों की जरूरत होती है लेकिन उनके बच्चों को दूध भी नहीं मिल पा रहा है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *