चुनाव नतीजे आने से पहले भाजपा को बड़ा झटका

0
मणिपुर : लोकसभा चुनाव का परिणाम आने से पहले भाजपा  को बड़ा झटका लगा है. मणिपुर में भाजपा की सरकार खतरे में आ गई है । ऐसे में चुनाव परिणाम आने से पहले भाजपा के हाथ से एक राज्य निकलता नज़र आ रहा है ।
शनिवार की बैठक में निर्णय लिया गया

मणिपुर में भाजपा सरकार को समर्थन देने वाली नागा पिपल्स फ्रंट के नेताओं ने सरकार से समर्थन लेने का निर्णय लिया है । शनिवार को नागा पिपल्स फ्रंट के नेताओं की बैठक हुई । इस बैठक में सरकार से समर्थन वापस लेने का निर्णय लिया गया. अगर नागा फ्रंट ने सरकार से समर्थन वापस ले लिए तो भाजपा सरकार के गिर जाने का खतरा है ।
2017 में हुए विधानसभा चुनाव में मणिपुर में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी । मणिपुर विधानसभा में कुल 60 सीटें है । इनमे से कांग्रेस को 28 सीटें मिली थी जबकि भाजपा को 21 सीटें मिली थी । बहुमत के लिए 31 विधायकों के समर्थन की जरुरत होती है ।
भाजपा सरकार से एनपीपी ने समर्थन वापस लिया 
भाजपा को नेशनल पिपल्स फ्रंट (एनपीपी ) और एलजेपी ने  अपना समर्थन दिया था । ये दोनों दल एनडीए का घटक दल है । एनपीपी को 4 सीटें और एलजेपी के 1 विधायक के समर्थन से भाजपा का गणित 26 हो गया था । इसके बाद 5 सीटों के लिए भाजपा को नागा पिपल्स फ्रंट का समर्थन मिला और सरकार बन गई थी ।

.लेकिन लोकसभा चुनाव परिणाम से पहले मणिपुर में भाजपा की सरकार जाने का खतरा बढ़ गया है । ऐसे में भाजपा सरकार बचाने के लिए क्या करती है ये देखना महत्वपूर्ण होगा।

मणिपुर विधानसभा में संख्या बल – कुल 60 सीटें 

कांग्रेस – 28

भाजपा – 21

एनपीपी – 4

 
एलजेपी – 1 नागा पिपल्स फ्रंट – 4
 
तृणमुल कांग्रेस – 1
 
निर्दलीय – 1

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like