गुजरात में अंधेर…महिला पुलिसकर्मी ने मॉस्क पहनने के लिए टोका तो देना पड़ा इस्तीफा

0

सूरत. ऑनलाइन टीम – कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए गुजरात में रात के समय कर्फ्यु लगाया गया है। साथ ही सभी के लिए मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है। पर इस नियम का पालन करने के लिए एक महिला पुलिसकर्मी को इस्तीफा देना पड़ा। यह है पूरा मामला : सूरत के वराछा क्षेत्र में महिला पुलिसकर्मी सुनीता यादव ने कार में सवार पांच युवकों को कर्फ्यू उल्लंघन के मामले में रोका।

फिर उन युवकों के समर्थन में प्रकाश कानाणी अपने पिता की कार लेकर मौके पर पहुंच गया। बताया जा रहा है कि कार पर सवार युवक बिना मास्क पहने ही कर्फ्यु का उल्लंघन करते हुए घूम रहे थे। जब सुनीता ने उन्हें रोका तो उन्होंने मंत्री के बेटे को बुला लिया। वहां पहुंच कर प्रकाश ने महिला महिला कांन्सटेबल को धमकी दी, जिसके बाद सुनीता भड़क गयी और पूरे घटना की जानकारी अपने अधिकारी को दी। जब पुलिस अधिकारी को यह पता चला की मामला मंत्री से जुड़ा हुआ तो अधिकारी ने सुनीता को घर जाने के लिए कह दिया। जिससे आहत सुनीता ने अपने इस्तीफे की पेशकश कर दी। सुनीता तीन साल पहले पुलिस में भर्ती हुई थी।

पोल खोलने की चेतावनी : इस मामले में मंत्री कुमार कानाणी का कहना है कि रात को बेटा किसी बीमार रिश्तेदार की मदद के लिए गया था। वहीं सुनीता ने मीडियाकमिर्यों से कहा कि वह तब तक कुछ उजागर नहीं करेगी, जब तक सरकारी प्रक्रिया पूरी नहीं हो जाती है। उन्होंने बताया कि अभी मेरा फोन टैप किया जा रहा है, इसलिए जानकारी देने में असमर्थ हूं। जल्द ही मीडिया के सामने वीडियो सामने रखूंगी और सबका पोल खोल कर रख दूंगी। बताया जा रहा है कि महिला पुलिस ने पुलिसिया सिस्टम से तंग आकर अपना इस्तीफा सौंप दिया है। हालांकि अभी तक इस्तीफे की पुष्टि नहीं हुई है।

You might also like