पुलवामा अटैक : शहीद बेटे के माता-पिता के प्रति सरकार का असंवेदशील रवैया, अब तक नहीं पहुंची सरकारी मदद    

0

महाराष्ट्र(बुलडाणा): पोलिसनामा ऑनलाइन – पिछले साल आज ही के दिन (14 फरवरी) पुलवामा में आतंकवादियों ने हमारे जवान भाइयों को निशाना बनाया था. उनके काफिले पर धमाके कर दिए गए थे, जिसमें सेना के कई जवान शहीद हो गए. इनमें बुलडाणा जिले (महाराष्ट्र) के विरपांगरा गांव के जवान नितिन राठौड़ का नाम भी शामिल हैं. देश का यह सपूत बेटा भारतमाता की सेवा करते हुए शहीद हो गया, लेकिन आज खुद उनकी माँ सावित्री अपने बेटे की याद में आंसू बहा रही हैं. लेकिन उनकी सूद लेने वाला कोई नहीं है.

पुलवामा टेरर अटैक में शहीद होने के बाद नितिन के परिवारवालों से शासन-प्रशासन ने ढेरों वादें किए थे. लेकिन आज भी नितिन के माता-पिता उन वादों को पूरा होने की आस में हैं.

जवान बेटे को खोने का दुःख झेल रहे नितिन के पिता शिवाजी राठौड़ ने बताया कि, बेटे के शहीद होने के बाद सरकार ने हमें 5 एकड़ भूमि, पेट्रोल पंप और 1 करोड़ का एक बंगला देने का वादा किया था. लेकिन अभी किसी वादे को पूरा नहीं किया गया.

वहीं नितिन के शिक्षक एम.एस.चौहान और गांववालों ने सरकार के इस रवैये पर नाराजगी व्यक्त की है और सरकार को असंवेदशील बताया है. साथ ही उन्होंने मांग की है कि नितिन के परिवार को जल्द सहायता पहुंचाई जाए और पाकिस्तान को कड़ा सबक सिखाया जाए.

You might also like