Pune Police MCOCA Action | दहशत फैलाने वाले तौफीक भोलावाले व उसके अन्य 5 साथियों पर लगा ‘मकोका’! पुलिस आयुक्त की अब तक 43 संगठित आपराधिक गिरोह पर MCOCA

0

पुणे : पुलिसनामा ऑनलाइन – Pune Police MCOCA Action | चाय की दुकान पर हुए झगड़े में युवक की बेरहमी से पिटाई कर जान से मारने का प्रयास करने वाले तौफीक रियाज भोलावाले व उसके अन्य 5 साथियों के खिलाफ पुलिस आयुक्त ने मकोका कानून के तहत कार्रवाई की है. पुलिस आयुक्त रितेश कुमार ने अब तक 43 संगठित आपराधिक गिरोह पर मकोका कानून के तहत कार्रवाई की है. (Pune Police MCOCA Action)

शिकायतकर्ता 9 जुलाई को कमला नेहरू चौक के एक पान शॉप के पास दोस्त से गप कर रहा था. शिकायतकर्ता के पहचान का तेजस होनमाने व अजीम सय्यद की 15 अगस्त चौक के एक चाय दुकान पर झगड़ा हुआ था. इस झगड़े का गुस्सा मन में रखकर तौफीक भोलावाले व उसके साथियों ने शिकायतकर्ता को लोहे की रॉड, हॉकी स्टीक व लकड़ी के डंडे से बेरहमी से पिटाई कर जान से मारने का प्रयास किया था. इस मामले में फरासखाना पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 307, 324, 143, 144, 147, 148, 149, 323, 506, आर्म्स एक्ट, महाराष्ट्र पुलिस एक्ट, क्रिमिनल लॉ अमेंडमेंट एक्ट के अनुसार केस दर्ज किया गया है.(Pune Police MCOCA Action)

पुलिस स्टेशन में दर्ज मामले में गिरोह के सरगना तौफीक रियाज भोलावाले (उम्र-22, नि. कसबा पेठ, पुणे), ऋतिक राजेश गायकवाड (उम्र-22), उजेर शाहिद शेख (उम्र-21), अरमान इकबाल शेख (उम्र-20), रफीक जाफर शेख (उम्र-35 सभी नि. रियाज हाईट्स, नवीन मंगलवार पेठ,पुणे) को गिरफ्तार किया गया है.(Pune Police MCOCA Action)

पूछताछ में पता चला कि तौफीक भोलावाले गिरोह तैयार कर पिछले छह साल से अपराध कर रहा है. उसके साथ उसके अन्य साथियों पर हथियार रखने, हत्या के प्रयास, गंभीर रुप से जख्मी करने, नागरिकों की प्रॉपर्टी को नुकसान पहुंचाने, दहशत पैदा करने, पुलिस के आदेश का उल्लंघन करने जैसे गंभीर अपराध किए है. उन पर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गई थी. लेकिन उन्होंने इस तरह के अपराध बार बार किए.

फरासखाना पुलिस स्टेशन में दर्ज मामले में महाराष्ट्र संगठित अपराध नियंत्रण कानून 1999 की धारा 3 (1) (ii), 3(2), 3(4) को शामिल करने का प्रस्ताव पुलिस निरीक्षक क्राइम मंगेश जगताप
ने पुलिस उपायुक्त जोन-1 संदीप सिंह गिल  के जरिए
अपर पुलिस आयुक्त पश्चिम प्रादेशिक विभाग प्रवीण कुमार पाटिल
 के समक्ष पेश किया था. इस प्रस्ताव की जांच कर अपर पुलिस आयुक्त ने
मकोका की धारा को शामिल करने को मान्यता दी. मामले की जांच फरासखाना विभाग
के सहायक पुलिस आयुक्त अशोक धुमाल कर रहे है.

यह कार्रवाई पुलिस आयुक्त रितेश कुमार, पुलिस सह आयुक्त संदीप कर्णिक,
अपर पुलिस आयुक्त प्रवीण कुमार पाटिल, पुलिस उपायुक्त जोन-1 संदीप सिंह गिल,
सहायक पुलिस आयुक्त अशोक धुमाल के मार्गदर्शन में वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक दादा साहेब चुडाप्पा,
पुलिस निरीक्षक क्राइम मंगेश जगताप, सर्विलांस टीम के
सहायक पुलिस निरीक्षक संतोष शिंदे, पुलिस उपनिरीक्षक निलेश मोकाशी,
पुलिस कांस्टेबल अजीत शिंदे, तुषार खडके, पंकज देशमुख, शशिकांत ननावरे, पुंडलीक झुंबड की टीम ने की.

Join our WhatsApp GroupTelegramfacebook page and Twitter for every update

Pune Crime News | पानी पीने का बहाना कर आरोपी हुआ फरार; निजी रिक्शा से आरोपी
को लेकर जाना पड़ा महंगा

You might also like
Leave a comment