तीन हज़ार मराठा आंदोलनकारियों को राहत, मुख्यमंत्री ठाकरे दवारा केस वापस लेने की शिफारिस

0

मुंबई, पॉलीसेनामा ऑनलाईन –राज्य के मुख्यमंत्री पद पर विराजमान होने के बाद से  उद्धव ठाकरे ने पिछले दस दिनों में पांच मामलों में केस वापस लेने का निर्णय लिया है. उद्धव ठाकरे ने स्थानीय कोर्ट में मराठा आंदोलनकारियों के खिलाफ दर्ज 288 मामले रद्द करने की विनती की है. ठाकरे सरकार के इस निर्णय से करीब तीन हज़ार आंदोलनकारी युवको को बड़ी राहत मिलेगी।

पांच मामलों में केस वापस लिया गया 
उद्धव ठाकरे ने अब तक मेट्रो कारशेड, नाणार पप्रोजेक्ट, कोरेगांव भीमा हिंसा, शेतकरी आंदोलन और मराठा क्रांति मोर्चा के आंदोलनकारियों के खिलाफ दर्ज मामले वापस लेने की शिफारिस  की है. एक सीनियर अधिकारी से मिली जानकारी के अनुसार मराठी आंदोलनकारियों पर दर्ज 35 गंभीर  मामले वापस नहीं लिए जाएंगे। इसके तहत विरोध के दौरान पांच लाख से अधिक की सम्पति का नुकसान पहुंचाने और पुलिसकर्मियों और कर्मचरियो के जख्मी होने से जुड़े मामले है. उद्धव ठाकरे के इस निर्णय से 3 हज़ार मराठा युवको को फायदा होगा। सरकार ने केस रद्द करने के लिए पुलिस कमिशर दवारा स्थानीय कोर्ट में शिफारिश की गई है. इस पर अब कोर्ट निर्णय लेगी।
You might also like