RMD Foundation | R.M.D. Distribution of uniforms along with school materials to children in Anganwadis in remote areas on behalf of the foundation
File Photo

पालघर : पुलिसनामा ऑनलाइन – RMD Foundation | शहर के मुख्य भाग के नर्सरी में पढने वाले विधार्थियों को भी गणवेश पहनकर स्कूरल जाना पडता है. लेकिन दुर्गम भाग के आंगणवाडी में पढने वाले आदिवासी बच्चों को गणवेश की जानकारी तक नहीं है या उनके बश का नहीं है. आंगणवाडी में पढने वाले बच्चेश एक तरह की ड्रेस में आए इसके लिए गणवेश एकमात्र जरिया है. यह राय आर एम डी फाउंडेशन की उपाध्यक्षा शोभा आर धारीवाल ने व्यहक्तश किए है. पालघर जिले के तलासरी तालुका के उपलाट के तीर्थधाम जिनशरण में गुरुपूर्णिमा के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में वह बोल रही थी. इस दौरान आरएमडी फाउंडेशन की ओर से आदिवासी आंगणवाडी के 650 से अधिक लडके और लडकियों को मुफत सिलेट, पेंसिल व गणवेश वितरित किया गया.(RMD Foundation)

 

गुरुपूर्णिमा के मौके पर बच्चोंक के लिए गणवेश योजना लागू कर बच्चोंर को जो आनंद मिला है यह मेरे लिए बडा उपहार है. मेरे मंच पर पहली बार इतनी बडी संख्या में छोटे छोटे बच्चोंर को लाकर मेरा मंच और सुंदर व भव्य बनाया है. ऐसी महिमा जैन मुनिश्री आचार्य पुलकसागर महाराज बताई.(RMD Foundation)

 

इस मौके पर बाल विकास अधिकारी गणेश मांटे ने कहा कि बच्चों को गणवेश में देखकर काफी खुशी हुई है. जबकि गणवेश से बच्चों में एक अनुशासन आता है. यह राय तलासरी पुलिस स्टे शन के पुलिस निरीक्षक विजय मुतडक ने व्यक्त किए. आंगणवाडी सेविका गीता जानाडबके ने कहा कि गणवेश पहने बच्चोंन के चेहरे पर कौतूहल व आनंद दिख रहा है.(RMD Foundation)

आर एम डी फाउंडेशन की तरफ से आयोजित कार्यक्रम में सभी आंगणवाडी सेविका
व हेल्पेर को चाफा के पेड वितरित किए गए. सभी बच्चोंव, उनके अभिभावकों व
आंगणवाडी सेविका, हेल्पेर के लिए गौतमी प्रसाद कार्यक्रम आयोजित किया गया था.
गुरुपूर्णिमा के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में सरकारी अधिकारी, पुलिस अधिकारी,
आंगणवाडी कर्मचारी, पर्यवेक्षिका, देशभर से आए जैन समाज के प्रतिष्ठित और उपलाट
गांव की महिला बडी संख्याक में उपस्थि त थी.

 

Web Title : RMD Foundation | R.M.D. Distribution of uniforms along with school materials to children in
Anganwadis in remote areas on behalf of the foundation

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *