मध्य रेल द्वारा बिनाटिकट यात्रियों से 192.51 करोड़ रुपये की रिकोर्ड वसूली की गई

0

मुंबई : पोलिसनामा ऑनलाइन – मध्य रेल ने  बिना टिकट तथा अनियमित यात्रियों के विरूध्द सघन अभियान चलाया जिसके दौरान जनवरी 2019 से दिसंबर 2019 के अवधि में 192.51 करोड़ रुपये टिकट चेकिंग अर्जन दर्ज किया. इस प्रकार के अभियान रेल के यात्रियों को बेहतर सेवा देने तथा बिना टिकट यात्रा पर लगाम लगाने के लिए चलाए जाते हैं. इसके लिए मध्य रेल द्वारा नियमित रूप से अभिनव कदम उठाए जाते हैं. वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा बिना टिकट यात्रा से होने वाले राजस्व हानि तथा अन्य अनियमिताओं की गहन निगरानी रखी जाती है.

जनवरी 2019 से दिसंबर 2019 की अवधि के दौरान बिना टिकट/अनियमित यात्रा के कुल 37.64 लाख मामले दर्ज किए गए, जबकि पिछले वर्ष इसी अवधि में 34.09 लाख मामलों में 10.41% की वृद्धि हुई थी. जनवरी 2019 से दिसंबर 2019 की अवधि में इस तरह के बिना टिकट/अनियमित यात्रा से अर्जित आय रु.192.51 करोड़ दर्ज की गई, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान दर्ज मामलो में रु. 168.30 करोड़ की आय की तुलना में 14.39% बढ़ी है.

मध्य रेल के महाप्रबंधक, संजीव मित्तल ने एस. बी. गलांडे, टीटीआई (यात्रा टिकट निरीक्षक), एम. एम. शिंदे, टीटीआई, डी. कुमार, टीटीआई (मुख्यालय फ्लाइंग स्क्वाड) एवं रवि कुमार, मुख्य टिकट निरीक्षक (मुंबई मंडल) इनको, इस अवधि के दौरान प्रत्येक 1 करोड़ रुपये से अधिक आय की अर्जन दर्ज करने के लिए नकद पुरस्कार और प्रमाणपत्र प्रदान किया. बी.के. दादाभोय, प्रमुख मुख्य वाणिज्यिक प्रबंधक और श्रीमती इति पांडे, मुख्य वाणिज्यिक प्रबंधक (यात्री सेवाएं), मध्य रेल भी इस अवसर पर उपस्थित थे.

You might also like