हेड कांस्टेबल को बिजली विभाग के इंजीनियर का चालान काटना पड़ गया महंगा

0

मेरठ: पुलिसनामा ऑनलाइन –नए मोटर व्हीकल एक्ट के प्रभाव में आने के बाद से ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वालों पर पुलिस कड़ी कार्रवाई करती नजर आ रही है. लेकिन इसी ठोस कार्रवाई के चलते कई जगहों से पुलिस और नागरिकों के बीच लगातार छोटे-मोटे झड़प के मामले सामने आ रहे हैं. अब ट्रैफिक पुलिस की कार्रवाई को लेकर एक बड़ा दिलचस्प मामला सामने आया है, जिसमें कार्रवाई से गुस्साए एक बिजली विभाग  के जूनियर इंजीनियर ने भी बदले की कार्रवाई करते हुए पुलिस चौकी की ही लाइट कटवा दी. इसके बाद पुलिस कर्मियों को पूरा दिन बिना बिजली गुजरना पड़ गया.

क्या है मामला
बदले की कार्रवाई का यह दिलचस्प मामला गुरुवार का है. बिजली विभाग  के जूनियर इंजीनियर जेई सोम प्रकाश गर्ग तेजगढ़ी चौराहे से गुजर रहे थे. तभी एक हेड कॉन्स्टेबल राजेश कुमार ने देखा कि स्कूटी से जा रहे सोम प्रकाश ने हेलमेट नहीं पहना है. तुरंत हेड कांस्टेबल ने उन्हें रोक कर स्कूटी के डॉक्यूमेंटस दिखाने को कहा. सोम प्रकाश ने अपनी ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) और RC दिखाई. लेकिन उनके पास इंश्योरेंस और पोल्यूशन सर्टिफिकेट (PUC) नहीं था और न ही उन्होंने हेलमेट पहन रखा था. इसलिए उनका 3 हजार का चालान काटा गया.

ऐसे किया अपना बदला पूरा
सोम प्रकाश ने हेड कॉन्स्टेबल से ऐसा न करने की गुजारिश की और बताया कि वे सरकारी कर्मचारी हैं. लेकिन कॉन्स्टेबल ने एक ना सुनी. इससे गुस्साएं सोम प्रकाश ने कहा कि आप कहां? सभी नियमों का पालन करते है. आपके विभाग ने लाखों का बिजली बिल नहीं चुकाया है. यह कहते हुए सोम प्रकाश ने फोन कर के लाइनमैन को बुलाया और इसके बाद पहले तेजगढ़ी चौकी और फिर मेडिकल थाने की बिजली काटव दी. हालाँकि इस पूरे वाकिये का वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो हैं.

हालाँकि यहाँ के पुलिस इंस्पेक्टर ने भी स्वीकार किया है कि थाने पर 27 हजार रुपए का बिजली बिल बकाया है. लेकिन उनको यह जानकारी पहले नहीं थी.

अधीक्षण अभियंता ने भी की पुष्टि
इस पूरे मामले पर बातचीत करते हुए अधीक्षण अभियंता ए.के पाठक ने बताया कि यह बात सही है कि राजेश कुमार ने बकाया बिल होने पर मेडिकल थाने और तेजगढ़ी चौकी की बिजली कटवा दी थी. हालाँकि अभी पुलिस अधिकारीयों ने भरोसा जताया है कि बिल का भुगतान जल्द ही कर दिया जाएगा, इसलिए अभी के लिए यहाँ की बिजली आपूर्ति बहाल कर दी गई है. हालांकि
उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि अगर यह बिजली कटौती, कार्रवाई के बदले से प्रेरित है, तो इस बात की अवश्य पड़ताल की जाएगी.

You might also like