जिसे वह आशीर्वाद का हाथ समझती वही चाचू जान ले गया

0

पिंपरी : पुलिसनामा ऑनलाईन – पिंपरी-चिंचवड़ में ढ़ाई वर्ष की मासूम के साथ दुष्कर्म कर उसकी हत्या करने की घटना शहर में दो दिन पहले घटी थी. मासूम के साथ दुराचार करने वाले आरोपी के बच्ची का सगा चाचा होने की जानकारी सामने आई है. उसे सांगवी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. घटना के दिन आरोपी ने दो से तीन घंटे तक पॉर्न फिल्म देखी थी. उसके बाद बगल के घर में अपने पिता के साथ सोई बच्ची को चुपचाप उठाकर घर के पीछे की तरफ ले गया था और फिर उसके साथ दुष्कर्म किया था. जब बच्ची शोर मचाने लगी तो उसकी गला दबाकर हत्या करने की बात आरोपी ने पूछताछ में कबूल की है.

आरोपी भी उनके साथ उसकी तलाश में शामिल था
जब घर के लोग बच्ची को ढूंढ रहे थे तब आरोपी भी उनके साथ उसकी तलाश में शामिल था. घटना घटने के बाद संबंधित घटनास्थल से छह लोगों को पुलिस ने पूछताछ के लिए कब्जे में लिया था. उनमें आरोपी भी शामिल था. उससे पूछताछ करने पर उसने उल्टा जबाव देना शुरू किया. पुलिस को संदेह हुआ. पुलिस ने घटने के दिन की उसके मोबाइल की हर गतिविधि और मोबाइल कितने बजे तक चालू था. इसकी तकनीकी जांच करके आरोपी के सामने रख दी. पुलिस पूछताछ में पूरी तरह फंसने के बाद उसने ढाई साल की मासूम की हत्या करने की बात कबूल की. इस घटना से शहर में हलचल मच गई थी. विभिन्न क्षेत्रों से इस घटना को लेकर आक्रोश व्यक्त किए जा रहे थे. फिलहाल सांगवी पुलिस मामले की जांच में जुटी है.

कैसे घटी घटना
सोमवार 22 जुलाई को ढाई साल की मासूम का घर से अपहरण होने की बात सामने आई थी. रात में करीब डेढ़ बजे जब बच्ची की मां की नींद टूटी तो बच्ची के घर में नहीं होने का पता चला. बच्ची की दो घंटे तक तलाश करने के बाद भी जब नहीं मिली तो सांगवी पुलिस को घटना की जानकारी दी गई. पुलिस टीम और बच्ची के माता-पिता के साथ आरोपी रिश्तेदार भी बच्ची को तलाश रहा था. मंगलवार की सुबह पौने आठ बजे बच्ची घर के पीछे मृत अवस्था में मिली. उसका औंध के हॉस्पिटल में तुरंत पोस्टमार्टम किया गया तो पता चला कि उसके साथ दुष्कर्म किया गया था. इसके बाद घटनास्थल से 6 संदिग्धों को सांगवी पुलिस ने अपनी कस्टडी में लिया. इनमें से बच्ची के चाचा को पुलिस ने गिरफ्तार किया है.  यह कार्रवाई सांगवी पुलिस स्टेशन के सीनियर पुलिस इंस्पेक्टर प्रभाकर शिंदे, पुलिस इंस्पेक्टर (क्राइम) अजय भोसले, क्राइम ब्रांच यूनिट 4 के सीनियर पुलिस इंस्पेक्टर मोहन शिंदे आदि ने की.

You might also like