ट्रंप का पोस्ट बना कारण… मार्क जुकरबर्ग का विरोध भारी पड़ा, फेसबुक ने ‘उस’ कर्मचारी को नौकरी से ही निकाल दिया

0

सैन फ्रांसिस्को : समाचार ऑनलाइन –  मार्क जुकरबर्ग का विरोध करने वाले कर्मचारी को फेसबुक ने नौकरी से निकाल दिया है। दरअसल, अमेरिका में हुए दंगों को लेकर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फेसबुक पर एक विवादित पोस्ट डाला था। इस पर फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने ट्रंप का बचाव करते हुए इस पोस्ट पर कार्रवाई करने से इनकार कर दिया था। जुकरबर्ग के इस फैसले का उनके कई कर्मचारियों ने विरोध किया था। उन्हीं कर्मचारियों में से एक ब्रैंडन डायल ने जुकरबर्ग के फैसले की कड़ी आलोचना की थी, जिसे फेसबुक ने नौकरी से निकाल दिया है। फेसबुक ने ब्रैंडन डायल को नौकरी से निकाले जाने की पुष्टि की है। हालांकि, कंपनी ने इस संबंध में ज्यादा जानकारी देने से इनकार कर दिया है। ब्रैंडन डायल फेसबुक के सिएटल ऑफिस में यूजर इंटरफेस इंजीनियर के पद पर तैनात था। उनकी टीम के छह अन्य इंजीनियरों सहित दर्जनों कर्मचारियों ने मार्क जुकरबर्ग की खामोशी पर सार्वजानिक तौर पर नाराजगी जताई थी, उन्हें भी सफाई पेश करने के लिए सभी कर्मचारियों को वर्चुअली संबोधित करना पड़ा।

पूरा मामला यह है : बता दें अमेरिका के मिनीपोलिस में एक अश्वेत नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड को एक दुकान में नकली बिल का इस्तेमाल करने के संदेह में गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें पुलिस अधिकारी को घुटने से आठ मिनट तक जॉर्ज फ्लॉयड की गर्दन दबाते हुए देखा गया। बाद में फ्लॉयड की मौत हो गई। फ्लॉयड की मौत के बाद पूरे अमेरिका में हिंसक प्रदर्शन हुए। इसको लेकर ट्रंप ने फेसबुक पोस्ट में कहा था ‘जब लूट शुरू होती है, तो शूटिंग शुरू होती है।’ ट्रंप के इस ट्वीट का पूरी दुनिया में विरोध किया गया था।’

You might also like