आजमगढ़ से अखिलेश यादव भैया या दिनेश लाल यादव, जानें कौन किस पर पड़ रहा भारी 

0

नई दिल्ली :पोलीसनामा ऑनलाईन – आजमगढ़ में दो लोकसभा सीटों आजमगढ़ और लालगंज संसदीय सीट के लिए चुनाव हुए हैं। इस बार आजमगढ़ संसदीय सीट जातीय समीकरण में उलझी हुई है। इसका कारण कोई और नहीं बल्कि भाजपा प्रत्याशी दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’ है। फिल्मों से राजनीति में एंट्री करते ही ‘निरहुआ’ ने अखिलेश के ‘यादव फैक्टर’ को गड़बड़ कर दिया। जातीय समीकरण को  सेट कर भाजपा भी इस सीट पर एक बार अपनी परचम लहराना चाहती  है। इस बार भी सपा-बसपा गठबंधन को यादव, मुस्लिम और दलित वोटरों पर भरोसा है।

वहीं भाजपा परंपरागत मतों के साथ यादव और दलित वोटरों में सेंधमारी कर रही है। बता दें कि आजमगढ़ संसदीय क्षेत्र में यादव, मुस्लिम और दलित मतदाताओं की संख्या 49 प्रतिशत है। शेष 51 प्रतिशत में सवर्ण और अन्य मतदाता है।  जमीनी हकीकत देखा जाये तो अखिलेश यादव आगे चल रहे है। लोगों का स्पोर्ट उनके साथ है। मोदी के नाम पर दिनेश यादव को भी यहां वोट मिले है। नजीते आने के बाद सब साफ़ हो जायेगा।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like