FD से जुड़ी ‘यह’ 7 बड़ी बातें, जान लेंगे तो होगा फायदा

0

नई दिल्ली: पुलिसनामा ऑनलाइन – हर वर्ग के लोगों द्वारा फिक्सड डिपॉजिट (FD) निवेश का एक बेहतर विकल्प माना जाता है. क्योंकि इसमें निवेशक अपनी आर्थिक परिस्थिति के अनुसार कम अमाउंट से अधिक अमाउंट की FD करवा सकते हैं. साथ ही इसकी अवधि भी अपनी इच्छानुसार चुन सकते हैं और अच्छा ब्याज भी प्राप्त कर सकते हैं.

अगर आप भी FD करवा चुके हैं या करवाने की सोच रहे हैं, तो इससे पहले FD से जुड़ी खास बातें जान लें…

दो तरह की होती है FD
आमतौर पर FD दो तरह की होती है. पहली क्युमुलेटिव एफडी और दूसरी नॉन-क्युमुलेटिव एफडी. इसमें तिमाही और सालाना आधार पर इंटरेस्ट मिलता है. हालांकि, आप रेगुलर इंटरवल पर भी ब्याज का लाभ ले सकते हैं.

किसी भी बैंक में की जा सकती है FD
आप किसी भी नॉन-बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियों में FD करवा सकते हैं.

जानें FD में निवेश के लाभ

  1. यह वर्ग के लिए एक सुरक्षित और जिखिम रहितनिवेश ऑप्शन माना जाता है.
  2. FD में जमा कराई राशि या मूल धन पर किसी तरह के जोखिम की संभावना नहीं है. साथ ही इसकी अच्छी बात यह है कि निवेशक को एक तय अवधि में रिटर्न भी प्राप्त हो जाता है.
  3. FD पर बाजार में उतार—चढ़ाव का कोई सीधा असर नहीं पड़ता है.
  4. FD में निवेशक महीने के आधार पर ब्याज का लाभ ले सकते हैं.
  5. अन्य स्कीम की तुलना FD पर मिलने वाली ब्याज दर अधिक होती है. सीनियर सिटीजन्स के लिए यह एक सबसे अधिक रिटर्न देने वाला निवेश माना जाता है.
  6. बता दें कि FD की किसी एक स्कीम में एक ही बार निवेश किया जा सकता है. यदि निवेशक को इसके बाद अधिक डिपॉजिट करना है तो उन्हें अलग एफडी अकाउंट खोलना पड़ता है.
  7. निवेशकों के लिए यह ध्यान देने वाली बात है कि इसमें निर्धारितअवधि के लिए एफडी फिक्स करने के बाद मैच्योरिटी से पहले निवेशक विड्रॉ नहीं कर सकता. अगर किसी कारणों से निवेशक समय से पहले रकम निकालना चाहते हैं, तो इसके लिए उन्हें पेनाल्टी भरना होगी.
You might also like