crime

अलवर. ऑनलाइन टीम : राजस्थान के अलवर जिले के भिवाड़ी में दुष्कर्म का एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसने इंसानियत को तार-तार कर दिया है। एक दुष्कर्मी नाबालिग से 4 साल से हैवानियत कर रहा था, मगर इसकी भनक नहीं लग पाई थी। पोल खुली भी तो उस नाबालिग की मौत के साथ।

शहर के यूआईटी थाना क्षेत्र के सांथलका गांव में बिहार निवासी एक मजदूर किराए के मकान में रहता है। उसके परिवार में 17 साल की नाबालिग लड़की है। सांथलका निवासी 25 वर्षीय आरोपी रोहित गुर्जर के साथ पिछले 3-4 साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। आरोपी खुद परचून की दुकान करता है। खुद ने कॉलोनी बनाई हुई है, जिसमे किराये के मकान देता है। उसी के मकान में किराए से मजदूर परिवार रहता है। इस बीच उसका मजदूर परिवार से मिलना-जुलना जारी रहा।

नाबालिग पर उसकी नजर पड़ी। धीरे-धीरे उसे प्रेम जाल में फांस लिया। इस दौरान नाबालिक गर्भवती हो गई तो रोहित ने छोलाछाप डाक्टरों और नर्स से गर्भपात की हैवी डोज दवाइयां दी गई।   मंगलवार को उसकी तबियत बिगड़ गई। परिजन उसे सरकारी अस्पताल लेकर पहुंचे। रात को इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। मामले को लेकर मृतका के पिता ने बुधवार को महिला थाने में मामला दर्ज कराया था।  मामला उजागर होने के बाद पुलिस ने गर्भपात करवाने वाली नर्स को हिरासत में ले लिया है, जिससे पूछताछ की जा रही है।

महिला थाना की उप निरीक्षक अखिलेश कुमारी ने बताया कि मृतका के पिता ने मामला दर्ज कराया कि उनकी 17 साल की बेटी का आरोपी ने बिना बताए जबरन कहीं गर्भपात करा लिया था। इसके बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। इससे उसकी तबियत बिगड़ी और अस्पताल में मौत हो गई।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *