अमर मारा गया… विकास दूबे के ‘राइटहैंड’ पर 13 मुकदमे थे दर्ज, भाग रहा था मध्यप्रदेश 9 दिन पहले बना था दुल्हा

0

कानपुर. ऑनलाइन टीम – चौबेपुर के विकरू गांव में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या मामले में फरार चल रहे दुर्दांत अपराधी विकास दुबे गैंग के शूटर अमर दुबे को यूपी एसटीएफ ने हमीरपुर के मौदहा में एनकाउंटर के दौरान मार गिराया। पुलिस ने घटना के बाद से ही उस पर 25 हजार रुपए का इनाम घोषित कर रखा था। वह विकास दुबे के साथ हर जुर्म में शामिल रहता था। गत 2 जुलाई की रात भी विकास दुबे के घर दबिश देने पहुंची टीम पर अमर दुबे ने गोलियां बरसाईं थीं।

हत्या व डकैती जैसी गंभीर धाराओं में दर्ज है मुकदमा : चौबेपुर थाने और कानपुर देहात जिले में अमर दुबे के खिलाफ संगीन धाराओं में 13 मुकदमे दर्ज हैं। इनमें 8 मामले में उसपर हत्या, हत्या का प्रयास, लूट, रंगदारी, डकैती और धमकी देने जैसी गंभीर धाराओं से संबद्ध है। वह 8 पुलिसकर्मियों की शहादत के मामले में भी वांछित था। विकास के साथ दर्ज नामजद एफआईआर में भी उसका नाम था।

मध्यप्रदेश भागना चाहता था : अमर दुबे की शादी 29 जून 2020 को हुई थी और जुलाई 2 की रात को विकरू गांव में उसने विकास दुबे के साथ मिलकर पुलिस टीम पर हमला किया। इसके बाद वह भी विकास दुबे के साथ ही फरार हो गया और फरीदाबाद पहुंचा। इसके बाद दोनों अलग-अलग हो गए। वह फरीदाबाद से हमीरपुर के रास्ते मध्य प्रदेश भागना चाहता था, लेकिन एसटीएफ की सख्ती की वजह से वह मौदहा में अपने रिश्तेदार के घर छिपने जा रहा था। इस बीच उसे एसटीएफ ने घेर लिया और सरेंडर करने को कहा, लेकिन उसने फायरिंग कर दी। जवाबी फायरिंग में वह मारा गया

You might also like