Pune Police News | missing grandmother safely in family custody thanks to social media thanks to beat marshal warje malwadi police

पुणे : पुलिसनामा ऑनलाइन – Pune Police News | सोशल मीडिया का जितना नुकसान है उतना फायदा भी है. सोशल मीडिया का इस्तेमाल अब पुलिस भी कर रही है और इसका फायदा भी मिल रहा है. इसी का एक उदाहरण वारजे से सामने आया है. वारजे मार्शल ने एक रास्ता भूल गई और घर का पता नहीं बता पा रही दादी को सकुशल उनके परिवार को सौंप दिया है. इस दादी को उनके घर पहुंचाने के लिए वारजे पुलिस ने सोशल मीडिया की मदद ली.(Pune Police News)

वारजे पुलिस स्टेशन के मार्शल अमोल सुतकर और ज्ञानेश्वर माने पेट्रोलिंग कर रहे थे. इसी दौरान मध्य रात्रि में एक दादी परेशान हाल भटक रही थी. सुतकर और माने ने दादी से पूछताछ की, उनसे घर का पता पूछा. लेकिन दादी कुछ नहीं बता पाई. उनकी यादाश्त कमजोर पड़ गई थी. बारिश की रात, ठंड के वातावरण में दादी के स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए सुतकर और माने दादी को पुलिस स्टेशन लेकर आ गए.(Pune Police News)

दादी को उनके घर पर सकुशल पहुंचाने के लिए वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सुनील जैतापुरकर, पुलिस निरीक्षक क्राइम अजय कुलकर्णी के मार्गदर्शन में पुलिस हवलदार विठ्ठल शिंदे, पुलिस नाईक संतोष नांगरे, पुलिस कर्मी अमोल सुतकर, ज्ञानेश्वर माने, योगेश वाघ के साथ वारजे पुलिस स्टेशन की मशीनरी काम में जुट गई. सीमा और आसपास की किसी चौकी में मिसिंग का केस दर्ज हुआ है क्या इसकी जानकारी निकाली गई. लेकिन दादी को लेकर पुलिस को कोई जानकारी नहीं मिल रही थी.(Pune Police News)

आखिरकार पुलिस मार्शल अमोल सुतकर ने सोशल मीडिया का सहारा लिया.
उन्होंने दादी का फोटो स्टेटस और ग्रुप पर डाला.
दूसरे दिन एक युवक ने सुतकर से संपर्क कर कहा कि वह इस दादी को पहचानता है.
पुलिस ने उस युवक को बुलाया.
युवक ने बताया कि यह दादी कर्वेनगर के वडार बस्ती में रहती है.
पुलिस ने वडार बस्ती में दादी के घर का पता लगाकर उन्हें उनके बेटे विश्वास तुलसीराम बनसोडे
को सौंप दिया. इस महिला का नाम वैजयंती तुशीराम बनसोडे है.
सुतकर और माने के काम की सीनियर्स ने तारीफ की है.

Pune Crime News | सिंहगढ़ रोड पुलिस ने 8 महीने से फरार मकोका मामले
के आरोपी को किया गिरफ्तार

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *