महाराष्ट्र CM : मुख्यमंत्री पद जाने के बाद देवेन्द्र फडणवीस को मिली नई पहचान… अब पुकारे जाएंगे…

0

मुंबई: पोलिसनामा ऑनलाईन – जैसा कि सभी जानते हैं राज्य संकट की स्थिति में है. किसी भी पार्टी द्वारा सत्ता बनाने का दावा पेश न कर पाने के कारण, अब अतंत: राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू हो गया है. शिवसेना-भाजपा ने महायुति के माध्यम से चुनाव लड़ा, लेकिन शिवसेना-भाजपा के बीच मुख्यमंत्री पद  को लेकर दरार पैदा हो गई. शिवसेना चाहती थी कि उनका भी उम्मीदवार ढाई साल तक मुख्यमंत्री पद पर काबिज हो, लेकिन भाजपा ने शिवसेना की इस मांग को अस्वीकार कर दिया. इसके बाद से राज्य की राजनीती न असमंजस का महौल बना हुआ है.

पिछले 5 सालों से  देवेंद्र फडणवीस ने राज्य के मुख्यमंत्री को संभाला है. भाजपा को उनके नेतृत्व में एक बार फिर से सरकार बनाने की उम्मीद थी. हालांकि, शिवसेना की मांग ने बीजेपी की स्थापना के सपने को बर्बाद कर दिया. मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को अपना इस्तीफा सौंप दिया. राज्यपाल ने तब देवेंद्र फडणवीस को कार्यवाहक मुख्यमंत्री के रूप में पदभार संभालने के लिए कहा था. हालांकि, राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू होने के बाद अब फडणवीस के पास से यह पद भी चला गया.

फडणवीस ने अपने नाम के साथ लिखी ‘यह’ नई पहचान

देवेंद्र फडणवीस को भाजपा विधानमंडल नेता के रूप में चुने जाने के बाद, यह स्पष्ट था कि मुख्यमंत्री के दावेदार वही होंगे. लेकिन यह नहीं हो सका. आखिरकार, अब  देवेंद्र फड़नवीस ने सोशल मीडिया पर एक नई पहचान बना ली है. ट्विटर पर, देवेंद्र फड़नवीस ने खुद को महाराष्ट्र के सेवक के रूप में बताया है.

लोकसभा चुनाव के दौरान, कांग्रेस चौकीदार चोर है का प्रचार कर रही थी. इस दौरान भी देवेंद्र फडणवीस ने अन्य भाजपा नेताओं की तरह अपने नाम के आगे ‘चौकीदार’ शब्द लगाया था.

देवेन्द्र फड़नवीस ने अपने ट्वीट में लिखा है कि, राज्य में राष्ट्रपति शासन लगना बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है. आज राज्य के सामने कई सवाल खड़े हो गए हैं. राज्य में राजनीतिक अस्थिरता अब राज्य में निवेश को प्रतिकूल रूप से प्रभावित करेगी. सरकार के रोजमर्रा के कामकाज प्रभावित होंगे और इस विकल्प से जनता को असुविधा होती रहेगी. उन्होंने आगे कहा है कि सभी दल इस स्थिति को गंभीरता से लेंगे तो  राज्य को जल्द ही एक स्थिर सरकार मिलेगी.

You might also like